बिहार के बारे में 20 प्रमुख बातें जिसे आप शायद ही जानते होंगे

Ravi Sir
8 Min Read

बिहार के बारे में 20 प्रमुख बातें: बिहार, भारत का एक राज्य है, जिसकी राजधानी पटना है। इस राज्य का गठन 22 मार्च 1912 को हुआ था, इसलिए हर साल 22 मार्च को बिहार दिवस के रूप में मनाया जाता है। क्षेत्रफल की दृष्टि से बिहार भारत का बारहवाँ सबसे बड़ा राज्य और जनसंख्या की दृष्टि से यह तीसरा सबसे बड़ा राज्य है।

Contents

बिहार की जनसंख्या का अधिकांश भाग ग्रामीण है। यह भारत के महान राज्यों में से एक है। आइये जानते है, बिहार के बारें में 20 प्रमुख बातें –

1. बिहार महाजनपदों की भूमि है।

बिहार राज्य का इतिहास बहुत प्राचीन है। यह 16 महाजनपदों में से एक था, जिसका नाम मगध था। मगध में आधुनिक पटना तथा गया जिला शामिल था। इसकी राजधानी गिरिव्रज (राजगीर) और बाद में पाटलिपुत्र (पटना) था।

मगध का सर्वप्रथम उल्लेख अथर्ववेद में मिलता है। अभियान चिंतामणि के अनुसार इसे कीकट कहा गया है। इसकी सीमा उत्तर में गंगा से दक्षिण में विंध्य पर्वत तक, पूर्व में चंपा से पश्चिम में सोन नदी तक फैला हुआ था।

2. बिहार ज्ञान की भूमि है।

प्राचीन काल का सबसे प्रसिद्ध शिक्षण केंद्र, नालंदा विश्वविद्यालय, बिहार के नालंदा जिले में है। इसकी स्थापना कुमारगुप्त प्रथम ने 415-454 ई.पू. में किया था।

3. बिहार बुद्ध की भूमि है।

बिहार के बोधगया में गौतम बुद्ध को निरंजना नदी के तट पर बोधिवृक्ष (पीपल के पेड़) के नीचे ज्ञान की प्राप्ति हुई थी। बोधगया बिहार के गया जिले में स्थित है।

4. बिहार जैन धर्म का केंद्र है।

जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जन्म बिहार के वैशाली में हुआ था। 72 वर्ष की आयु की बिहार के पावापुरी (राजगीर) में महावीर स्वामी ने निर्वाण (मोक्ष) प्राप्त किया था। बिहार के पावापुरी में एक जल मंदिर है।

5. बिहार को दुनिया का पहला गणराज्य माना जाता है।

बिहार के वैशाली को दुनिया का पहला गणराज्य माना जाता है। वर्तमान में जो लोकतांत्रिक देशों में अपर हाउस और लोअर हाउस की प्रणाली है, जहाँ सांसद जनता के लिए पॉलिसी बनाते है, वह प्रणाली भी वैशाली गणराज्य में था।

6. महात्मा गाँधी ने अपना पहला सत्याग्रह बिहार में किया था।

महात्मा गाँधी ने अपना पहला सत्याग्रह 1917 में बिहार के चंपारण में किया, जो एक किसान आंदोलन था। उन्होंने इस सत्याग्रह के द्वारा तिनकठिया प्रणाली को समाप्त करवाया था। राजकुमार शुक्ल के आमंत्रण पर महात्मा गाँधी चंपारण पहुँचे थे।

7. भारत के प्रथम राष्ट्रपति बिहार से थे।

भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद बिहार से थे। इनका जन्म सिवान जिले के जीरादेई में हुआ था। वर्ष 1962 में डॉ. राजेंद्र प्रसाद को भारत रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उनका निधन 28 फरवरी 1963 को हुआ था।

8. मधुबनी पेंटिंग का संबंध बिहार से है।

बिहार की मिथिला चित्रकला विश्व प्रसिद्ध है। इसे ‘मधुबनी पेंटिंग’ के नाम से भी जाना जाता है। वर्तमान समय में, यह चित्रकला दिवार, केनवास एवं हस्त निर्मित कागज पर चित्रकारों द्वारा बनाया जाता है।

9. बिहार सिख धर्म का पवित्र स्थान है।

सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोविन्द सिंह जी का जन्म बिहार के पटना में स्थित पटना साहिब में हुआ था। उनका जन्म माता गुजरी के गर्भ से 22 दिसंबर 1666 को हुआ था। उनके बचपन का नाम गोबिंद राय था।

10. बिहार का नाम बौद्ध भिक्षुओं के मठों के कारण पड़ा है।

बिहार शब्द की उत्पत्ति ‘विहार’ से हुआ है, जिसका अर्थ ‘मठ’ होता है। यह नाम बौद्ध भिक्षुओं के मठों के कारण पड़ा था। बिहार में कुल 38 जिले है। बिहार का सबसे छोटा जिला शिवहर तथा सबसे बड़ा जिला पश्चिम चंपारण है।

11. प्रसिद्ध लेखक रामधारी सिंह दिनकर बिहार से थे।

रामधारी सिंह दिनकर हिंदी भाषा के एक प्रमुख लेखक, कवि व निबंधकार थे। उनका जन्म बिहार के बेगुसराय में हुआ था। 1959 में रामधारी सिंह दिनकर जी को भारत के प्रथम राष्ट्रपति ने पदम् विभूषण से सम्मानित किया था।

12. बिहार वैदिक साहित्य का केंद्र है।

प्राचीन वैदिक साहित्य और अध्ययन का महत्वपूर्ण केंद्र बिहार का मिथिला क्षेत्र रहा है। वैदिक साहित्य को दो श्रेणियों, स्मृति और श्रुति, में बांटा गया है। वेदों की संख्या चार है, जिसमें ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद तथा अथर्ववेद शामिल है।

13. एशिया का सबसे बड़ा पशु मेला बिहार में लगता है।

एशिया का सबसे बड़ा पशु मेला, सोनपुर मेला, बिहार में लगता है। यह मेला हर साल बिहार के सोनपुर में कार्तिक पूर्णिमा (नवंबर-दिसंबर) में लगता है। स्थानीय लोग इसे छत्तर मेला कहते है। यह मेला गंगा और गंडक नदी के संगम पर आयोजित किया जाता है।

14. लिट्टी-चोखा बिहार का प्रसिद्ध व्यंजन है।

लिट्टी-चोखा बिहार का प्रसिद्ध और पारंपरिक व्यंजन है। यह बिहार के साथ-साथ झारखंड और उत्तर प्रदेश में भी प्रसिद्ध है।

15. छठ पूजा बिहार की बहुत प्रसिद्ध त्योहार है।

छठ पूजा बिहार का प्रसिद्ध त्योहार है। इसमें भगवान सूर्य को अर्घ दिया जाता है। यह त्योहार बिहार या भारत का एकमात्र ऐसा पर्व है जो वैदिक काल से चला आ रहा है।

इसे भी पढ़ें: विश्व के 7 नए आश्चर्य

16. गोलघर बिहार में है।

गोलघर बिहार की राजधानी पटना में है। एक एक प्रकार का अन्नागार है जिसमें 1,40,000 टन अनाज रखा जा सकता है। इसके वास्तुकार कप्तान जॉन गार्स्टिन थे।

17. विश्व का सबसे पुराना मंदिर मुंडेश्वरी देवी मंदिर बिहार में है।

कैमूर जिले में स्थित माँ मुंडेश्वरी देवी मंदिर, विश्व का सबसे पुराना देवी मंदिर है। यह अष्टकोणीय मंदिर है जो पत्थर से बना हुआ है। इस मंदिर के मध्य भाग में एक पंचमुखी शिवलिंग है, जिसका रंग सूर्य की स्थिति के अनुसार बदलता रहता है।

18. मौर्य साम्राज्य की राजधानी बिहार में था।

मौर्य साम्राज्य की राजधानी पाटलिपुत्र में था। पाटलिपुत्र का वर्तमान नाम पटना है। प्राचीन काल में यह एक महान शहर था। मौर्य साम्राज्य की स्थापना चन्द्रगुप्त मौर्य ने की थी।

19. भारतीय क्रिकेटर ईशान किशन का संबंध बिहार से है।

भारतीय क्रिकेटर ईशान किशन का जन्म बिहार के नवादा जिले में हुआ था।

20. 1857 के विद्रोह का नेतृत्व करने वाले वीर कुँवर सिंह बिहार से थे।

वीर कुँवर सिंह का जन्म बिहार के भोजपुर के जगदीशपुर गाँव में हुआ था। उन्होंने 1857 के विद्रोह का नेतृत्व बिहार से किए थे। वे गोरिल्ला युद्ध में अभ्यस्थ थे। भारत सरकार ने 1966 में उनके सम्मान में एक स्मारक डाक टिकट जारी किया था।

Share This Article
I'm Ravi from Patna. I have completed my graduation in mathematics from Magadh University, Bodhgaya, India. I'm a passionate and influential blogger in the education field. Over the years, our website has evolved into a comprehensive platform that not only provides valuable educational content but also fosters a community of learners and educators.
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *